जिला पदाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने जिला भू अर्जन कार्यालय के निरीक्षण के दौरान दिए कई निर्देश

गंडौल बिरौल परियोजना में रैयतों के मुआवजा में तेजी लाएं:डीएम

जिला पदाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने जिला भू अर्जन कार्यालय के निरीक्षण के दौरान दिए कई निर्देश

फोटो: निरीक्षण करते डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह एवं मौजूद पदाधिकारी सुमन कुमार

दरभंगा।जिला पदाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने शनिवार को मुख्यालय स्थित जिला भू अर्जन कार्यालय का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिला पदाधिकारी ने सहरसा एवं दरभंगा को जोड़ने वाली गंडौल बिरौल परियोजना जिसमें सड़क एवं कई पुल निर्माण होंगे,में रैयतों के जमीन मुआवजा में तेजी लाने का निर्देश दिया। इसके पूर्व वर्ष 2007 में जिला भू अर्जन कार्यालय दरभंगा का निरीक्षण तत्कालीन डीएम के द्वारा किया गया था। निरीक्षण के दौरान कार्यालय प्रबंधन, साफ-सफाई, अभिलेखों का रखरखाव,भवन की स्थिति संतोषजनक पायी गई। निरीक्षण के क्रम में जिला भू-अर्जन पदाधिकारी सुमन कुमार ने प्रारूपक,सर्वेयर, परिमाप एवं मोहरील का पद रिक्त होने की जानकारी डीएम को दिया गया।जहां डीएम ने रिक्त पद पर पदस्थापन हेतु विभाग से पत्राचार करने का निर्देश दिया।निरीक्षण के दौरान डीएम ने पुरानी भू अर्जन से संबंधित परियोजनाएं जिसमें 1/2 रैयतों को जिन्होंने आवश्यक कागजात जमा नहीं किया था,को छोड़कर शेष सभी का भुगतान कर दिया गया है ,के संबंध में निर्देश दिया गया कि वैसे 1/2 बचे रैयतों को दी जाने वाली राशि भू-अर्जन प्राधिकार में जमा कर अभिलेख को बंद कर दें।निरीक्षण के दौरान गंडौल बिरौल सड़क परियोजना से संबंधित भू अर्जन की धीमी गति को देखते हुए इसमें तेजी लाने का निर्देश दिया। इस परियोजना के अंतर्गत लगभग 900 रैयतों के बीच 665 करोड़ रुपए का भुगतान किया जाना है। इनमें से अभी तक कुल 63 रैयतों के बीच छः करोड़ रुपया का भुगतान किया गया है। इसका कारण जमीन मालिकों के प्रक्रियागत बिलंब को बताया गया।भू अर्जन पदाधिकारी के द्वारा पूनाछ मौजा का प्राकलन भू अर्जन निर्देशालय से अब तक स्वीकृत होकर नहीं आने की जानकारी दी गई। जिला पदाधिकारी ने इस संबंध में स्पष्ट आदेश दिया कि जो प्राकलन स्वीकृत हो गया है एवं एवार्ड बन गया है वैसे रैयतों के बीच शिविर आयोजित कर के भुगतान देने की प्रक्रिया प्रारंभ करें। वैसे सभी रैयत आवश्यक वांछित कागजात लेकर भू अर्जन कार्यालय से भी संपर्क कर सकते हैं।निरीक्षण के दौरान जिला भू-अर्जन पदाधिकारी सुमन कुमार उपस्थित थे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *