Breaking news: लालू के सजा आने से पहले ही बिहार में मची घमासान…

सोमू कर्ण।
पटना,04 जनवरी।

लालू यादव के फैसले आने से पहले ही बिहार की राजनीति में उठा-पटक होनी शुरू हो गयी है। चारा घोटाला के एक मामले में आज आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की सजा का ऐलान होने वाला है। इससे पहले बिहार में राजनीतिक बयानबाजी तल्ख होती जा रही है।

सीबीआई कोर्ट ने भले ही राजद के तीन और कांग्रेस के एक नेता को अवमानना का नोटिस जारी किया है। लेकिन राजद नेताओं ने कोर्ट की अवमानना से इनकार किया है। पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कोर्ट के फैसले पर कहा कि ‘न्यायपालिका में भी आरक्षण का प्रावधान होना चाहिए और जिस जाति के दोषी को सजा सुनाई जानी है, जज भी उसी जाति का हो। क्योंकि जज जिस जाति का होता है वह पक्षपात करता ही है।’ राजद प्रवक्ता शक्ति यादव ने कहा कि तेजस्वी यादव कालेजियम सिस्टम खत्म करने की बात कहते रहे हैं और कहते रहेंगे। शक्ति यादव ने कहा कि न्यायपालिका में आरक्षण वक्त की जरूरत है।

क्या कहतें है मोदी…
इससे पहले बिहार के बीजेपी नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ट्वीट किया- ‘पटना हाईकोर्ट के आदेश पर जब से चारा घोटाले की जांच प्रक्रिया चल रही है, तब से विभिन्न लोगों के विरुद्ध अलग-अलग धाराओं में सजा तय हुई और कई लोग बरी भी किये गए, लेकिन न्यायपालिका पर जातिवादी होने के आरोप केवल लालू प्रसाद के समर्थक ही क्यों लगा रहे हैं?’

अवमानना का नोटिस
बता दें कि मंगलवार को रांची की विशेष सीबीआई अदालत ने लालू यादव को दोषी करार दिए जाने के बाद फैसले पर टिप्पणी करने के लिए तेजस्वी यादव, रघुवंश प्रसाद सिंह समेत चार नेताओं को कोर्ट की अवमानना का दोषी ठहराते हुए नोटिस जारी किया। कोर्ट ने 23 जनवरी को सभी को पेशी के लिए बुलाया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *