डॉ. प्रेम मोहन और डॉ. अशोक बने साहित्य अकादेमी के सदस्य..। खबर हिन्दुस्तान

दरभंगा/न्यूज़डेस्क : साहित्य अकादेमी, दिल्ली के मूल एवं अनुवाद पुरस्कार की घोषणा गुरूवार को कर दी गई. मैथिली में वर्ष 2017 के मूल लेखन का पुरस्कार भाषाविद् एवं कवि-नाटककार डॉ. उदय नारायण सिंह ‘नचिकेता’ को उनके काव्य संग्रह ‘जहलक डायरी’ के लिए प्रदान किया जाएगा. उक्त जानकारी मैथिली की प्रतिनिधि डॉ. वीणा ठाकुर ने देते हुए बताया कि अनुवाद पुरस्कार के लिए प्रो. इंद्रकांत झा का चयन गुजराती उपन्यास ‘अंगुलियात’ का मैथिली अनुवाद किये जाने के लिए दिया जाएगा. वहीं दूसरी ओर साहित्य अकादेमी के सामान्य परिषद् में अगले सत्र के लिए मैथिली के बाल साहित्य पुरस्कार से सम्मानित डॉ. प्रेम मोहन मिश्र और डॉ. अशोक अविचल चुने गये हैं. ऐसी संभावना व्यक्त की जा रही है कि अगले पांच साल के लिए इन दोनों में से ही किसी एक हाथ में साहित्य अकादेमी में मैथिली की कमान होगी. उक्त जानकारी भी मैथिली की प्रतिनिधि डॉ. वीणा ठाकुर ने दी. दोनों साहित्य कारों को डॉ. योगानंद झा, अमलेन्दु शेखर पाठक, डॉ. दिलीप कुमार झा आदि ने शुभकामना दी है.

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *