बिहार के इस गाँव मे मुख्यमंत्री के जाते ही बदल गयी कायाकल्प

सोमू कर्ण।
दरभंगा,17 दिसम्बर।

दरभंगा का कमलपुर गांव जो कि दलितों की बस्ती है वहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आने की सूचना पूर्व ही कमल पुर गांव की रंगत बदल गयी। पूरा कमलपुर गांव साफ-सुथरा दिखा।आपको बता दें कि आज से 8 साल पूर्व जो स्थिति कमलपुर गांव की थी वो बिल्कुल बदली हुई थी। इस शीतकालीन मौषम में भी दलित बस्तियों के लोगो में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आने की खुशी चरम पर थी। सबसे बड़ी बात ये है कि कमलपुर गांव में प्रवेश करने के लिए कमला नदी पर बने पूल पर से गुजरना पड़ता है।

पुल के इस पार मुख्यमंत्री के स्वागत के लिए मंच बना हुआ था। मंच से आगे नवनिर्मित आंगनबाड़ी केंद्र मुख्यमंत्री के स्वागत में सजधज कर तैयार था। नदी के उस पार यानी कमलपुर गांव प्रवेश करते ही महादलित बस्ती में हर घर नल का जल योजना के तहत बनी पानी टंकी भी मुख्यमंत्री के आने का इंतजार कर रही थी। स्कूली बच्चियां थालियों में फूल लिए खड़ी थी। महादलित बस्ती में सबसे बड़ा बदलाव यह दिखा कि भले ही घर झोपड़ी व ईटों के निर्मित थे। लेकिन, गंदगी का नामोनिशान नहीं था। हर घर में बिजली का कनेक्शन था। पेयजल के लिए नल था। शौचालय था। सर्द व कुहासा के कारण मुख्यमंत्री के आगमन में थोड़ा विलंब हुआ। हेलीकाप्टर की उड़ान नहीं भरने की स्थिति में मुख्यमंत्री सड़क मार्ग से कमलपुर गांव पहुंचे। वहां पहुंचे ही उन्होंने सबसे पहले पानी पंकी का उद्घाटन किया। इस दौरान स्कूली बच्चों ने फूलों की बारिश कर उनका स्वागत किया। इसके बाद उन्होंने महादलित टोले का भ्रमण किया। झोपड़ीनुमा एक घर में पहुंचते ही एक वृद्ध महिला ने फूल की माला पहना कर उनका स्वागत किया। महिला ने तबी जुबान से कहा कि आपने इस बस्ती का कल्याण कर दिया। इस बस्ती के लोग आपका ऋणी रहेगा। इसके बाद एक घर जाकर मुख्यमंत्री ने विद्युत कनेक्शन को देखा। थोड़ी ही दूरी पर महिलाओं का समूह उनके अभिनंदन में सामूहिक रूप से गाना गा रहा था। एक पल के लिए वे वहां रूके। अभिवादन स्वीकार किया। समयाभाव के कारण मुख्यमंत्री ने पंद्रह-बीस घरों का निरीक्षण कर सभास्थल के लिए प्रस्थान कर गए। इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ¨जदाबाद के नारे लगते रहे। काफी भीड़ थी। जिसमें महिलाओं की भागीदारी खासी थी। फिजा में बस एक ही नाम था। वे थे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। इस मौके पर मंत्री महेश्वर हजारी, मंत्री मदन सहनी, विधायक सुनील चौधरी, पूर्व विधायक गोपालजी ठाकुर,पूर्व विधायक डॉ. इजहार अहमद आदि थे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *