उद्धारक का बाट जोह रहा शंकर रोहार बिठौली का यह स्कूल

दरभंगा। बहेड़ी प्रखंड के शंकर रोहार बिठौली पंचायत का यह है वित् रहित उच्च विद्यालय आज भी किसी उद्धारक का बाट जोह रहा है। इस विद्यालय में बुनियादी सुविधाओं का घोर अभाव है। कमरे की कमी है। पांच दशक पहले बने कमरे अब जर्जर स्थिति में है। छत का स्थिति ऐसा की कब विद्यार्थीओं के ऊपर लिलटर गिर जाए कोई ठीक नहीं। क्लास में पढ़ रहे बच्चों को किताबों से ज्यादा छत की तरफ टकटकी लगी रहती है ना जाने कब लिलटर सिर पे गिर जाए कोई ठीक नहीं। खिड़कियां जो बिना रॉड के दरवाजे जो बिना गेट। यानी जब चाहें आप खिड़की से अंदर-बाहर जा सकते हैं। इस स्कूल में पढ़ रहे बच्चों को किताबों से ज्यादा छत की तरफ ध्यान लगी रहती है क्योंकि ना जाने कब छत के लिलटर का शिकार हो जायें।

इस विद्यालय के छात्र के लिए कंप्यूटर एक सपना बना हुआ है। कारण स्पष्ट है कंप्यूटर शिक्षक और बिजली का अभाव।हालांकि बिजली पंचायत में आयी हुई है पर यहां सवाल यह उठता है कि बिजली मीटर लगाने का खर्च कौन उठाएगा? चलिए मान किया कि बिजली मीटर सभी शिक्षकगण मिलके लगा भी लेते हैं तो बिजली का बिल कौन भुगतान करेगा?

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *