एक लाख 54 हजार की लागत से तीसरा कृषि रोड मैप तैयार हुआ : अखिलेश सिंह

दरभंगा : भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश सिंह ने आज यहां कहा कि रसायनिक उर्वरकों के प्रयोग में वृद्धि के कारण खेती की जमीन बंजर होती जा रही है.जिसे देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जैवकि खेती पर बल दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि नीली क्रांति योजना के तहत मछली की खेती को प्रोत्साहित किया जाएगा. श्री सिंह आज स्थानीय परिसदन में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि अंधाधून उर्वरक के प्रयोग से खेतों में लगे फसल भी विषैले होते जा रहे हैं. जिसका असर लोगों के स्वास्थ्य पर रहा है. उन्होंने कहा कि एक लाख 54 हजार की लागत से तीसरा कृषि रोड मैप तैयार हुआ है. जिसके लागू होने से किसानों की दशा और दिशा बदल जायेगी. श्री सिंह ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री किसानों की आय दोगुनी करने के लिए संकल्पित है. जिसके लिए एकीकृत खेती, मछली पालन, मुर्गी पालन, पशुपालन और सिंचाई व्यवस्था पर जोर दिया जा रहा है. किसानों की आय बढ़ाने के लिए खेत के मेड़ पर भी फसल उगाने की योजना बनाई जा रही है. नीली क्रांति योजना के तहत मछली के खेती का विकास किया जायेगा. उन्होंने कहा कि आनेवाले समय मे भारत मे पाये जाने वाली गायों की मांग पूरे विश्व में होगी. जिसके लिए आवश्यकता है कि हम अपनी गाय के नस्ल में सुधार करें. जिसके लिए बड़े पैमाने पर कार्य किये जा रहे है. किसानों की खेती के लिए सबसे जरूरी होती है सिंचाई जिसके लिए सरकार कार्य कर रही है. आने वाले समय मे हर खेत तक बिजली पहुंचाई जायेगी. वहीं उन्होंने कहा कि 7 दिसम्बर को पटना में कृषि विकास सम्मेलन का आयोजन किया गया है. जिसमें पूरे राज्य से किसानों के प्रतिनिधि भाग लेंगे. जहां उन्हें उन्नत खेती की तकनीक का प्रशिक्षण दिया जायेगा. इस मौके पर भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. मुरारी मोहन झा, जिला अध्यक्ष मणिकांत झा, कृपाशंकर मिश्र, अशोक नायक, अमलेश झा, अमित झा आदि मौजूद थे.

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *